Tue. Nov 30th, 2021

About Us

  • विभाग- अल्पसंख्यक वर्गो की सामाजिक एवं आर्थिक पृष्ठभूमि के परिप्रेक्ष्य में उनकी विशिष्ट समस्याओं का निराकरण करने एवं उनका शैक्षिक, सामाजिक एवं आर्थिक विकास करके उन्हें राष्ट्र एवं समाज की मुख्यधारा में लाने के उद्देश्य से शासन द्वारा अनेक योजनाऐं चलाई जा रही है। ऐसी योजनाओं के क्रियान्वयन, संचालन एवं समन्वय के लिये उत्तराखण्ड राज्य में उत्तराखण्ड शासन के कार्यालय ज्ञाप संख्या- 510/xxxi(I)/ 2002 देहरादून दिनांक 24 अप्रैल, 2012 द्वारा पृथक ‘अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय/विभाग’ गठित किये जाने की स्वीकृति प्रदान की गयी है।..

 
  • निदेशालय- अधिसूचना सं0 – 1183(1)/XVII-3/11-07(63)/2006 दिनांक 02 दिसम्बर 2011 के द्वारा राज्य के अल्पसंख्यकों विशेषकर मुस्लिम समुदाय हेतु शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के उद्देष्य से ‘उत्तराखण्ड अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय’ की देहरादून में स्थापना की गई है। ..

 
  • उ0मु0ए0मि0-अधिसूचना सं0-26/XVII(1).3/05-07(30)/2004 दिनांक 19 फरवरी, 2005 के द्वारा राज्य के अल्पसंख्यकों विशेषकर मुस्लिम समुदाय हेतु शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के उद्देश्य से ‘उत्तराखण्ड मुस्लिम एजुकेशन मिशन’ की देहरादून में स्थापना की गई थी।..

 
  • बोर्ड- राज्य के मदरसांे की मदरसा बोर्ड की परीक्षाओं का आयोजन वर्ष 2005 तक उ0प्र0 मदरसा बोर्ड द्वारा ही किया जाता था। राज्य के मदरसों को मान्यता देने एवं मदरसों की परीक्षा कराने के उद्देश्य से शासनादेश सं0-813/XVII(1).3/06-07(11)/2005 दिनांक 03 अगस्त, 2006 को मिशन के पर्यवेक्षण में ‘मदरसा अरबी फारसी बोर्ड’ की स्थापना की गई थी।..

 
  • उ0म0बो0- शासनादेश संख्या 1209/ग्टप्प्-3/11-07(11)/2005 टी0सी0 दिनांक 09 दिसम्बर, 2011 के द्वारा उत्तराखण्ड मुस्लिम एजुकेशन मिशन के समस्त पदों को समर्पित करते हुए देहरादून में ‘उत्तराखण्ड मदरसा बोर्ड’ का गठन किया गया है।.

 
  • उद्देश्य- उत्तराखण्ड मुस्लिम एजुकेशन मिशन/उत्तराखण्ड मदरसा बोर्ड का मुख्य उद्देश्य राज्य के अल्पसंख्यकों विशेषकर मुस्लिम समुदाय हेतु शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करना है, मुस्लिम वर्ग को आधुनिक एवं रोजगारपरक शिक्षा मुहैया कराना है ताकि वे भी समाज की मुख्य धारा के साथ जुडकर अन्य वर्गों के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर चल सकें।.

 
  • उत्तराखण्ड मुस्लिम एजुकेशन मिशन/उत्तराखण्ड मदरसा बोर्ड का उद्देश्य राज्य के मदरसों का पंजीकरण कर उन्हें आधुनिक शिक्षा से जोडना तथा उन्हें सरकार से वित्तीय सहयोग प्रदान करना है।.

 
  • अधिनियम- उत्तराखण्ड मदरसा बोर्ड अधिनियम हेतु आलेख तैयार कर शासन को प्रेषित किया गया है शीघ्र ही अधिनियम के प्रख्यापित हो जाने की आशा है। वर्तमान में अधिनियम के अभाव में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सदस्यों के पदों का सृजन नहीं हुआ है।.

 
  • सांगठनिक ढाँचा- मदरसा बोर्ड में वर्तमान मंे निदेशक, उप रजिस्ट्रार, निरीक्षक, उर्दू अनुवादक का एक-एक पद अर्थात कुल 04 नियमित पद स्वीकृत हैं, इसके अतिरिक्त आउटसोर्सिंग के माध्यम से एक लेखाकार, 05 कनिष्ठ सहायक, 02 अनुसेवक एवं 01 स्वीपर कम चैकीदार के पद स्वीकृत हैं।. 

  • पता-वर्तमान में मदरसा बोर्ड कार्यालय किराये के भवन में संचालित है। जिसका पत्राचार का पता- ‘

    उत्तराखंड मदरसा शिक्षा परिषद
    अल्पसंख्यक कल्याण भवन, A Block, शहीद भगत सिंह कालोनी,
    अधोईवाला, देहरादून, उत्तराखंड

  • दूरभाष- 0135-2671157 है।..